खुलासा होने पर भूमिगत हुए बाइक पर घूमने वाले ठग पत्रकार

खुलासा होने पर भूमिगत हुए बाइक पर घूमने वाले ठग पत्रकार

बदायूं जिले की बिल्सी तहसील क्षेत्र में टीवी चैनल के नाम से उगाही करने वाले बाइक सवार ठग पत्रकारों की पोल खुल गई है। ठग पत्रकारों द्वारा बनाये गये फर्जी संवाद सूत्र और कोटेदार रूपये वापस लेने को खोज रहे हैं लेकिन, दोनों ठग मोबाइल स्विच ऑफ कर भूमिगत हो गये हैं, इन दोनों ठगों की कॉल रिकार्डिंग भी है, जिसमें यह दोनों संवाद सूत्र बनाने के नाम पर बेरोजगार युवाओं से रूपये मांगते सुनाई दे रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले दो-तीन महीनों से बिल्सी तहसील क्षेत्र में टीवी चैनल के नाम से दो पत्रकार रुपी ठग घूम रहे हैं, यह ईंट भट्टों, निजी और सरकारी स्कूलों के साथ कोटेदारों के यहाँ छापा मार रहे हैं। पत्रकार के रूप में डरा-धमका कर हजार-दो हजार रूपये लिए बिना हटते नहीं हैं, इसके अलावा गांवों में संवाद सूत्र नियुक्त कर रहे हैं, बेरोजगार युवाओं से दो हजार रूपये वसूल रहे हैं, साथ ही ठगों द्वारा उन्हें यह आश्वासन दिया जा रहा है कि छः महीने की ट्रेनिंग पूरी होने के बाद चैनल की आईडी दे दी जायेगी और फिर उन्हें 15 हजार रूपये प्रति माह वेतन मिला करेगा। चूँकि हर गाँव में पढ़े-लिखे बेरोजगार घूम रहे हैं, जो इन ठगों के चंगुल में आसानी से फंस भी गये।

कुछेक बुद्धिमान युवाओं को शक हुआ, उन्होंने जिला स्तर पर जानकारी ली तो, उन्हें ज्ञात हुआ कि पत्रकार नहीं, बल्कि वे ठगों के चंगुल में फंस गये हैं। बताया यह भी जा रहा है कि इन ठगों ने फर्जी आईडी बना कर कई युवाओं को दे दी हैं लेकिन, युवाओं ने इन दोनों की कारगुजारियों रिकार्ड कर ली हैं। रिकॉर्डिंग गौतम संदेश के पास भी है, जिसे शीघ्र ही प्रकाशित किया जायेगा।

उक्त प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए ठगों की कारगुजारियों का खुलासा गौतम संदेश ने कर दिया था तो, भट्टों के मालिक, स्कूलों के प्रबंधक और प्रधानाचार्यों के साथ कोटेदार सतर्क हो गये। खुलासा होने के बाद सभी अपने रूपये वापस मांगने लगे तो, दोनों ठग मोबाइल स्विच ऑफ कर भूमिगत हो गये हैं। यह भी बता दें कि इन ठगों में से एक प्रतिष्ठित अखबार में संवाद सूत्र था, जो शहर में एक प्लॉट पर कब्जा करने के प्रयास में अखबार ने निकाल दिया गया, इसके बाद से इसने दो सदस्यीय गिरोह बना लिया है, इन पर पुलिस-प्रशासन ने तत्काल अंकुश नहीं लगाया तो, किसी भी दिन बड़ी वारदात घटित हो सकती है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: हिंदी खबर के रिपोर्टर बने राजकमल, ठगई पर लग जायेगा अंकुश

Leave a Reply

Your email address will not be published.