प्रशासनिक लापरवाही से अधर में लटके हैं क्षेत्र पंचायतों के अविश्वास प्रस्ताव

प्रशासनिक लापरवाही से अधर में लटके हैं क्षेत्र पंचायतों के अविश्वास प्रस्ताव
जिलाधिकारी से मिलने आये क्षेत्र पंचायत सदस्य।

बदायूं में प्रशासन भाजपा के पक्ष में निर्णय लेने की तो बात ही छोड़िये, नियम अनुसार भी कार्य करने को तैयार नहीं है। कई विकास क्षेत्रों में अविश्वास प्रस्ताव पारित होने की कार्रवाई चल रही है, लेकिन प्रशासनिक लापरवाही के चलते कार्रवाई अधर में लटकी हुई है, जिससे अन्य क्षेत्रों के असंतुष्ट सदस्य साहस नहीं जुटा पा रहे हैं। वजीरगंज क्षेत्र में ब्लॉक प्रमुख का हिस्ट्रीशीटर पति सदस्यों को प्रलोभन दे रहा है, जिससे असंतुष्ट सदस्य पुनः डीएम से मिले।

उल्लेखनीय है कि 26 अगस्त को ब्लॉक वजीरगंज क्षेत्र के 58 असंतुष्ट सदस्यों द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष अविश्वास प्रस्ताव लाने को लेकर शपथ पत्र दिए गये थे। 29 अगस्त को ब्लॉक मुख्यालय पर खंड विकास अधिकारी द्वारा शपथ पत्रों का सत्यापन किया गया। सत्यापन के दौरान 42 क्षेत्र पंचायत सदस्यों के शपथ पत्र सही पाए गये। शपथ पत्र सत्यापन के बाद जिलाधिकारी द्वारा तिथि निर्धारित की जानी थी, पर अभी तक कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है।

वजीरगंज क्षेत्र में कुल 72 सदस्य हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए 37 सदस्यों का समर्थन चाहिए, जबकि सत्यापन के बाद 42 सदस्य पक्ष में हैं। वजीरगंज की ब्लॉक प्रमुख के विरुद्ध आने वाले अविश्वास प्रस्ताव में प्रशासन ही सबसे बड़ी अड़चन बना हुआ है। असंतुष्ट सदस्य शुक्रवार को पुनः जिलाधिकारी से मिले और शीघ्र तिथि निर्धारित करने का आग्रह किया है। सदस्यों का आरोप है कि ब्लॉक प्रमुख का हिस्ट्रीशीटर पति अरविंद वार्ष्णेय सदस्यों को प्रलोभन दे रहा है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: चर्चित हुआ अभियुक्त की प्रमुख पत्नी का शपथ ग्रहण समारोह

पढ़ें: वजीरगंज की प्रमुख के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने को 42 सदस्य तैयार

Leave a Reply

Your email address will not be published.