कुख्यात गाँव धनूपुरा में पुलिस और पीएसी का सफल ऑपरेशन

कुख्यात गाँव धनूपुरा में पुलिस और पीएसी का सफल ऑपरेशन
प्रधानपति से बात करते सीओ उझानी अजय कुमार शर्मा।
प्रधानपति से बात करते सीओ उझानी अजय कुमार शर्मा।

बदायूं के तेजतर्रार कप्तान सुनील कुमार सक्सेना की जिन मामलों में सीधी नजर रहती है, उनमें पुलिस त्वरित कार्रवाई करती नजर आ रही है। एएसपी अनिल कुमार यादव के निर्देशन और सीओ उझानी अजय कुमार शर्मा के नेतृत्व में आज पुलिस, पीएसी और आबकारी विभाग की बड़ी टीम ने कच्ची शराब बनाने के लिए बदनाम गाँव धनूपुरा में छापेमार कार्रवाई की और पच्चीस सौ लीटर से भी ज्यादा सामग्री नष्ट कर दी।

कादरचौक थाना क्षेत्र के बदनाम गाँव धनूपुरा में बड़ी संख्या में लोग कच्ची शराब बनाने का धंधा करते हैं, यहाँ के लोगों के संबंध पंजाब और हरियाणा तक के माफियाओं से बताये जाते हैं। हालात इतने भयावह हो चले हैं कि पुलिस और आबकारी की छोटी टीमें इस गाँव में बंधक बना ली जाती हैं। चूँकि अधिकाँश लोग धंधे में लिप्त हैं, सो इतनी बड़ी संख्या में लोगों के विरुद्ध कार्रवाई कर पाना पुलिस के लिए मुश्किल कार्य है, सो पुलिस समय-समय पर बड़ी टीम भेज कर कच्ची शराब बनाने की सामग्री और उपकरण नष्ट करती रहती है।

कप्तान सुस्त हो, तो संबंधित क्षेत्र की पुलिस भी हिस्सा लेकर मौन धारण कर लेती है, इस समय सुनील कुमार सक्सेना कप्तान हैं, जो तेजतर्रार भी हैं, उनके निर्देश पर एएसपी अनिल कुमार यादव की देख-रेख में टीम तैयार की गई, जिसने सीओ उझानी अजय कुमार शर्मा के नेतृत्व में आज सुबह गाँव में छापा मारा। पुलिस, पीएसी और आबकारी विभाग की टीम पहुंचने से पहले गाँव के अधिकाँश लोग फरार हो चुके थे। अधिकांश घरों में सिर्फ महिलायें ही थीं।

गाँव धनूपुरा में पहुंची पुलिस, पीएसी और आबकारी विभाग की टीम।
गाँव धनूपुरा में पहुंची पुलिस, पीएसी और आबकारी विभाग की टीम।

पुलिस ने किसी तरह कच्ची शराब बनाने की सामग्री खोजी और नष्ट की। पच्चीस सौ लीटर से भी अधिक कच्चा माल जमीन के अंदर प्लास्टिक के डिब्बों में गड़ा हुआ था, जिसे देख कर अफसर व कर्मचारी दंग रह गये, इस सब के बीच उपस्थित लोगों को जमा कर सीओ अजय कुमार शर्मा ने कहा कि वे पुलिस से डरें नहीं, लेकिन इस गलत कार्य को करना बंद कर दें। उन्होंने कहा कि इस धंधे से आने वाली पीढ़ी भी बर्बाद हो जायेगी। बच्चों को अच्छा जीवन देने के लिए सभी लोग इस धंधे को सामूहिक रूप से बंद कर दें। उन्होंने प्रधानपति से कहा कि वे किसी दिन पूरे गाँव के लोगों को इकट्ठा कर लें, उस दिन वे अफसरों और जनप्रतिनिधियों के साथ आकर सभी को समझायेंगे।

पुलिस की कार्रवाई देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें


Leave a Reply

Your email address will not be published.