चाहे वोट का अधिकार खत्म कर दो मगर, जीने का अधिकार दे दो

चाहे वोट का अधिकार खत्म कर दो मगर, जीने का अधिकार दे दो

रामपुर में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आजम खान रविवार को सड़क पर उतर आये। दिल्ली में मॉब लचिंग में आठ साल के मासूम की मौत के विरोध में आजम खां ने कैंडिल मार्च निकाला। आजम खान के साथ विधायकों के हाथों में तख्तियां भी थीं।

रामपुर में समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर रविवार देर शाम कार्यकर्ता बुला लिए गये। शहर विधायक, पूर्व कैबिनेट मंत्री व सपा के राष्ट्रीय महासचिव आजम खान के नेतृत्व में कैंडिल मार्च निकाला जाने लगा। आजम खान सहित सभी के हाथों में तख्तियां थीं, जिन पर लिखा था कि “चाहे वोट का अधिकार खत्म कर दो मगर, जीने का अधिकार दे दो।” आजम खान के नेतृत्व में कैंडिल मार्च तोपखाना रोड होते हुए पुरानी तहसील रोड, सर्राफा बाजार, मिस्टन गंज, राजद्वारा रोड से गांधी समाधि पर पहुंचा।

कैंडिल मार्च शांति पूर्वक निकाला गया एवं आजम खान ने भाषण भी नहीं दिया, इस दौरान पुलिस कर्मी भी साथ रहे। कैंडिल मार्च में चमरौआ क्षेत्र के विधायक नसीर खां, स्वार-टांडा क्षेत्र के विधायक अब्दुल्ला आजम, जिला सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन सलीम कासिम, पूर्व नगर पालिकाध्यक्ष अजहर खां, फसाहत अली खां शानू, फरहान खां और आनंद प्रकाश शर्मा सहित तमाम सपाई शामिल रहे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.