प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के पात्र खोजते समय पकड़ा गया गुप्तांग

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के पात्र खोजते समय पकड़ा गया गुप्तांग

बदायूं जिले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि प्रदान करने के लिए किसानों की सूची का सत्यापन किया जा रहा है। कृषि विभाग की सूची में गुप्तांग के नाम पर 3 हेक्टेयर भूमि पाई गई है, जिसे पकड़ लिया गया है लेकिन, सवाल यह उठ रहा है कि कृषि विभाग के भ्रष्ट और लापरवाह अफसर अपात्रों के नाम पर अब तक कितना सरकारी धन हजम कर चुके होंगे?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना बनाई है, इस योजना के अंतर्गत पात्र किसानों को छः हजार रूपये प्रति वर्ष दिये जायेंगे। पात्र किसानों को दो हजार रूपये फरवरी माह के अंत तक देने का प्रयास किया जा रहा है, इस क्रम में कृषि विभाग की सूची का सत्यापन कराया जा रहा है। जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह के निर्देश पर लेखपाल और रोजगार सेवकों ने सत्यापन शुरू कर दिया है।

सत्यापन के दौरान चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। बिल्सी तहसील क्षेत्र के गाँव अंबियापुर में गुप्तांग के नाम पर 3 हेक्टेयर भूमि दर्ज पाई गई है। क्रम संख्या- 87 पर किसान के नाम की जगह गुप्तांग का नाम दर्ज है एवं पिता के नाम की जगह गुप्तांग का पर्यावाची नाम दर्ज है। गुप्तांग की श्रेणी सामान्य वर्ग दर्शाई गई है एवं गुप्तांग स्त्री लिंग है पर, सूची में पुरुष दर्शाया गया है। गुप्तांग की खतौनी संख्या- 00002 है। गुप्तांग की भूमि का क्षेत्रफल 3 हेक्टेयर लिखा है। गुप्तांग का बैंक ऑफ बड़ोदा में खाता संख्या- 000624585 है। गुप्तांग का मोबाईल नंबर- 9310000815 दर्ज है। गुप्तांग का आधार नंबर- 9100005555 है एवं गुप्तांग की पारदर्शी पंजीकरण संख्या की जगह 8793089783500 लिखा है।

सत्यापन के दौरान गुप्तांग को अपात्र घोषित कर दिया जायेगा, जिससे गुप्तांग को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल सकेगा पर, सवाल यह उठता है कि इस तरह की फर्जी सूची की आड़ में कृषि विभाग के भ्रष्ट और लापरवाह अफसर कितना सरकारी धन हजम कर चुके होंगे?

बताया जाता है कि किसानों को विभाग कृषि यंत्र, बीज, दवा वगैरह देता है, ऐसे फर्जी नामों के सहारे भ्रष्ट अफसर सब कुछ खाते रहे होंगे। बताया जा रहा है कि पिछले दिनों हुए खाद घोटाले के पीछे भी यही फर्जी सूची है। टीम घटित कर पूरे प्रकरण की गहनता से जांच होना आवश्यक है। जाँच के बाद ही ज्ञात हो सकेगा कि गुप्तांग की आड़ में कौन-कौन कितना सरकारी धन हजम कर चुका है?

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.