भाजपा विधायकों ने भी माना सपा सांसद धर्मेद्र यादव का लोहा

भाजपा विधायकों ने भी माना सपा सांसद धर्मेद्र यादव का लोहा

बदायूं लोकसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेन्द्र यादव अपनी कर्मठता, सहृदयता और सकारात्मक सोच के बल पर आम जनता से लेकर संसद तक अपना लोहा मनवा चुके हैं। प्रदेश में भाजपा की प्रचंड बहुमत की सरकार बने एक वर्ष बीत चुका है लेकिन, धर्मेन्द्र यादव की लोकप्रियता निरंतर बढ़ रही है। विकास कराने की लगन को लेकर धर्मेन्द्र यादव शहर से लेकर गाँव की चौपाल तक आज भी चर्चा का विषय बने हुए हैं और अब भाजपा के विधायक भी धर्मेन्द्र यादव की लोकप्रियता को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं।

जी हाँ, भाजपा के विधायक भी धर्मेन्द्र यादव की लोकप्रियता न सिर्फ स्वीकार कर रहे हैं बल्कि, स्पष्ट कह रहे हैं कि धर्मेन्द्र यादव द्वारा कराये गये विकास कार्यों के स्तर के विकास कार्य नहीं कराये गये तो, लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के जीतने पर भाजपा विधायक संदेह भी व्यक्त करते दिख रहे हैं।

पढ़ें: कोठी का विकल्प नहीं बन पाया कोई, धर्मेन्द्र की लोकप्रियता बढ़ी

मुख्यमंत्री को दिया गया एक पत्र सामने आया है, जिस पर सदर क्षेत्र के भाजपा विधायक महेश चंद्र गुप्ता, बिल्सी क्षेत्र के भाजपा विधायक पंडित राधाकृष्ण शर्मा, दातागंज क्षेत्र के भाजपा विधायक राजीव कुमार सिंह “बब्बू” और विधान परिषद सदस्य जयपाल सिंह “व्यस्त” के हस्ताक्षर हैं, इस पत्र को मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी अजय कुमार सिंह द्वारा 27 मार्च को आगे भी बढ़ा दिया गया है।

भाजपा के विधायकों द्वारा मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया है कि अखिलेश यादव के अनुज धर्मेन्द्र यादव वर्ष- 2009 से प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, उन्होंने सपा की सरकार में राजकीय मेडिकल कॉलेज बनवाया, ओवरब्रिज बनवा कर शहर को जाम से मुक्त कराया, बाईपास स्वीकृत कराया, बरेली तक फोरलेन बनवाया, जनपद के कई मार्गों को राजकीय मार्ग का दर्जा दिलाया, कई डिग्री कॉलेज बनवाये, दो विकास खंड सृजित कराये, राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज और राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज बनवाने का प्रयास किया, यह सब कार्य होने से जनपद के नागरिकों में सांसद धर्मेन्द्र यादव के प्रति जनपद के नागरिकों में आस्था जन्मी है।

पत्र में आगे लिखा है कि जनपद के छः विधान सभा क्षेत्रों में से पांच में भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं, साथ ही प्रदेश में भाजपा की सरकार है लेकिन, सांसद धर्मेन्द्र यादव के प्रभाव में कोई कमी नहीं आई है, जिस कारण 2019 के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी चुनाव जीतने की स्थिति में होगा, इसमें संदेह है।

आगे लिखा है कि समाजवादी पार्टी से नागरिकों को तोड़ने के लिए आवश्यक है कि जनपद में कुछ कल्याणकारी विकास कार्य कराये जायें। पत्र में पैरामेडिकल कॉलेज, राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, ट्रांसपोर्टनगर, नव-सृजित विकास खंडों के भवन, कुंवरगाँव, वजीरगंज और बिनावर में डिग्री कॉलेज, कछला में भागीरथी के नाम से पर्यटन स्थल, सोत, महाबा और भैंसोर नदी को पुनर्जीवित करने एवं नदी के किनारे एक्सप्रेस-वे, कृषि विश्व विद्यालय, शेखूपुर चीनी मिल का विस्तार और पशु अनुसंधान केंद्र खोलने की मांग की गई है।

उक्त पत्र में सांसद धर्मेन्द्र यादव के कार्यों का जो हवाला दिया गया है, उससे भी कहीं ज्यादा विकास कार्य धर्मेन्द्र यादव द्वारा कराये गये हैं, इस सच्चाई को सभी मानते हैं, वहीं उक्त पत्र की बात करें तो, यह भाजपा विधायकों की उदारता को भी दर्शाता है, जिन्होंने मुख्यमंत्री को सच से अवगत कराने का प्रयास किया, इस पत्र का उद्देश्य सकारात्मक ही है। भाजपा विधायक भी चाहते हैं कि भाजपा सरकार में जिले का विकास हो।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.