दस हजार में धारा- 307 लगने लायक फर्जी रिपोर्ट बना देते हैं डॉक्टर

दस हजार में धारा- 307 लगने लायक फर्जी रिपोर्ट बना देते हैं डॉक्टर

बदायूं जिले में फर्जी धारायें बना कर लंबे समय से बेची जा रही हैं, इसकी जानकारी पुलिस-प्रशासन को ही नहीं, बल्कि शासन को भी है, लेकिन भ्रष्ट फार्मासिस्ट और भ्रष्ट डॉक्टर जेल नहीं भेजे जा रहे हैं। धारा बेचने का एक प्रकरण सुबूत सहित सामने आया है, लेकिन भ्रष्टाचारियों को अभी भी जेल नहीं भेजा जा रहा है।

घटना जरीफनगर थाना क्षेत्र की है गाँव भोगलजीत नगरिया में दो पक्षों के बीच विवाद हो गया था एक पक्ष ने दहगवां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात फार्मासिस्ट तेजस्वी जौहरी से बात की, तो उसने दस हजार रूपये में ऐसी मेडिकल रिपोर्ट बनाने की बात कही, जिससे दूसरे पक्ष के विरुद्ध धारा-307 आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज हो जायेगा तेजस्वी जौहरी ने दस हजार रूपये लेकर डॉ. कृष्ण कुमार से फर्जी मेडिकल रिपोर्ट बनवा दी फर्जी मेडिकल रिपोर्ट बनाने के लिए पहले युवक का अंगूठा काटा गया था

थाना पुलिस को पहले से ज्ञात था कि मामूली प्रकरण है, जिसमें किसी के चोट नहीं लगी है, इसलिए पुलिस ने धारा- 307 आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज करने से स्पष्ट मना कर दिया रिश्वत देने वाले पक्ष ने तेजस्वी जौहरी से मोबाईल पर बात की और पूछा कि रूपये देने के बाद भी पुलिस धारा- 307 आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज नहीं कर रही, दूसरी रिपोर्ट बनाओ, या पुलिस को समझाओ कि इस पर मुकदमा दर्ज करे, तो तेजस्वी ने दावा किया कि रिपोर्ट के अनुसार धारा- 307 में मुकदमा दर्ज होना चाहिए, पर वह पुलिस से कुछ नहीं कहेंगे

रिश्वत भी चली गई और धारा- 307 में मुकदमा भी दर्ज नहीं हुआ, इससे रिश्वत देने वाला पक्ष बौखला गया और फिर उसने ऑडियो वायरल कर दिया ऑडियो वायरल होने के बाद सच स्वीकार करने की जगह फार्मासिस्ट, डॉक्टर और एसीएमओ भाग रहे हैं, सही जवाब नहीं दे पा रहे हैं, लेकिन तेजस्वी जौहरी ने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार में मंत्री गुलाबो देवी का नाम लिया गया था, इसलिए रिपोर्ट बना दी

खैर, फर्जी धारा बनाने की जानकारी सभी को पहले से ही है, अब सुबूत भी सामने है, लेकिन भ्रष्टाचारियों को जेल नहीं भेजा जा रहा है, इस प्रकरण में कार्रवाई होना अति आवश्यक है, ताकि भविष्य में ऐसे भ्रष्ट फार्मासिस्ट और भ्रष्ट डॉक्टर किसी का जीवन बर्बाद न कर सकें।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.