प्रदेश की सरकार किसानों के साथ है: धर्मेन्द्र यादव

प्रदेश की सरकार किसानों के साथ है: धर्मेन्द्र यादव
गाँव वैन में पीड़ित को चेक प्रदान करते सांसद धर्मेन्द्र यादव व साथ में खड़े हैं एमएलसी बनवारी सिंह यादव।
गाँव वैन में पीड़ित को चेक प्रदान करते सांसद धर्मेन्द्र यादव व साथ में खड़े हैं एमएलसी बनवारी सिंह यादव।
अतिवृष्टि एवं दैवीय आपदा के कारण उत्पन्न चुनौतियों का किसान डटकर मुकाबला करें, सरकार उनके साथ है। भूमि विकास बैंक के कर्जा माफ करने की बात हो, या सिंचाई की आवपासी फ्री करने का मामला हो, प्रत्येक क्षेत्र में सरकार ने किसानों को राहत दी है।
उक्त विचार सोमवार को बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव ने ग्राम वैन में चेक वितरण कार्यक्रम में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा प्रभावित फसलों का आंकलन कराने के बाद निरन्तर कृषि निवेश अनुदान वितरण कराया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा बैंकों के ऋण की वसूली करने पर भी पाबंदी लगा दी है। किसानों को इस संकट की घड़ी में चुनौतियों का डटकर मुकाबला करना चाहिए। विधान परिषद सदस्य बनवारी सिंह यादव ने कहा कि किसानों की खुशहाली पर ही देश, प्रदेश की तरक्की निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि कुछ लेखपालों की शिकायतें मिल रही हैं, इस पर प्रभावी कार्रवाई की जाएगी।
चेक वितरण कार्यक्रम में कृषि दुर्घटना बीमा योजना अन्तर्गत तीन लाभार्थियों ग्राम बाल किशनपुर की कैलाश देवी, पुसगवां की राम देवी तथा ग्राम बघौल के पीर बहादुर को पांच-पांच लाख रूपए तथा ग्राम शरह बरौलिया की मीरा देवी को आम आदमी बीमा योजना अन्तर्गत 30 हजार रूपए का चेक सांसद द्वारा दिया गया, साथ ही कृषि निवेश अनुदान अन्तर्गत 500 कृषकों को 17 लाख 70 हजार रूपए सहित कुल 33 लाख रूपए के चेक वितरण किए गए।
जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने कहा कि सांसद के प्रयासों से जनपद में कृषि निवेश अनुदान अन्तर्गत 41 करोड़ रूपए की धनराशि प्राप्त हुई थी, जो जनपद के किसानों को चेक के माध्यम से वितरण कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि वितरण कार्य निरन्तर जारी है, इस क्षेत्र में 50 प्रतिशत ही कार्य हुआ है, लेकिन चेक वितरण कार्य में अभी और कार्य करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सौमित्र यादव सहित उप जिलाधिकारी बिल्सी विधान जायसवाल, नायब तहसीलदार राधे श्याम, पूर्व मंत्री विमल कृष्ण अग्रवाल, सुरेशपाल सिंह चौहान, अवधेश यादव, प्रभात कुमार सहित तमाम किसानगण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.