आरएसएस-भाजपा अल्लाहु अकबर भी बोल सकते हैं: आजम

आरएसएस-भाजपा अल्लाहु अकबर भी बोल सकते हैं: आजम
कैबिनेट मंत्री आजम खान
कैबिनेट मंत्री आजम खान

उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान जब बोलते हैं, तो खुल कर बोलते हैं। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने सपा, बसपा, भाजपा के साथ मुलायम के पारिवारिक विवाद पर भी जवाब दिया, साथ ही अमर सिंह के संबंध में कहा कि वे हैसियत समझेंगे और स्वामी प्रसाद मौर्य के बारे में कहा कि वे बेशर्म नहीं हैं, वहीं कॉमन सिविल कोड के सवाल पर झल्ला गये, लेकिन भ्रष्ट इंजीनियरों को फांसी देने की बात कही। आरएसएस पर बुनियाद से हटने का आरोप लगाया।

आजम खान शनिवार को बदायूं में थे। रोजा इफ्तार कार्यक्रम में सम्मिलित होने आये आजम खान ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि इस साल भी सूखा पड़ गया और यह सूखे का तीसरा साल है। नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि राजा ने सौ दिन के अंदर बीस लाख रूपये देने का वायदा किया था, जो नहीं दिया। राजा ने हर साल दो करोड़ नौजवानों को नौकरियां देने का वायदा किया था, नहीं दी। राजा ने वायदा किया था कि सौ दिन के अंदर पूरे देश को चौबीस घंटे बिजली मिलेगी, तो जब राजा झूठा, तो कुदरत भी झूठे के साथ हो गई, उसके पाप का भोग सारी जनता को भोगना पड़ता है, यह मैं नहीं कह रहा हूँ, यह शंकराचार्य ने कहा है।

रामपुर में पुल गिरने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इंजीनियरों को फांसी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पुल बनाने वाली कंपनी से मजदूरों की लिस्ट मांगी है, ताकि घायल और मर चुके मजदूरों को मुआवजा दिलवा सकें। लापरवाही पर बोले कि मेरी नहीं है। कौमी एकता दल को लेकर अखिलेश-शिवपाल विवाद पर उन्होंने कहा कि राजनैतिक समीकरण नहीं बैठा, साथ ही कहा कि नेता जी के रहते हुए कोई विवाद नहीं है।

बसपा छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ जारी हुई उनकी तस्वीर पर कहा कि उन्होंने बसपा छोड़ने पर बधाई दी थी, ताकि वापस न चले जायें और वे कामयाब रहे। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें अब पता चला कि सीटें बिकती हैं, देर हो गई और अब सजा मिलेगी। उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य के बसपा में वापस जाने के सवाल पर कहा कि इतने बेशर्म तो नहीं है, वे बात के पक्के हैं, आ गये, तो आ गये। उन्होंने कहा कि मायावती स्वयं बसपा छोड़ने वाली हैं, वे नई पार्टी बनायेंगी, क्योंकि बसपा बहुत बदनाम हो गई है।

अमर सिंह के सपा में आने के सवाल पर कहा कि वे अपनी हैसियत को समझेंगे। सुब्रामण्यम स्वामी पर पहले तो उन्होंने का कहा कि यह उनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है। आगे जोड़ा कि वे ऐसा सिर दर्द बन गये हैं, जो किसी गोली से नहीं जा रहा। उन्होंने कहा कि आरएसएस और भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं। अल्लाहु अकबर भी कह सकते हैं। धारा- 370 छोड़ चुके हैं। अफ्तार पार्टी करने लगे हैं। कॉमन सिविल कोड के सवाल पर रिपोर्टर को डपटते हुए सवाल टाल गये।

इससे पहले रोजा इफ्तार में सम्मिलित होने आये लोगों ने खाने के पैकेट को लेकर जमकर उत्पात मचाया, जिससे सैकड़ों पैकेट बर्बाद हो गये। व्यवस्था में लगे लोगों ने भीड़ को धक्के मार कर बमुश्किल रोका, वरना और भी बड़ा बवाल हो सकता था।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

आजम ने मुस्लिमों को लताड़ा, बोले- खाने आ गये बेशर्म

अपने अर्दली से जूते बंधवाते हैं दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा

वे व्यंजनों का आनन्द लेते रहे और वो कूड़ा जमा करता रहा

वीडियो देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.