जाँच में तीन बच्चियों की भूख से मरने की बात संदिग्ध पाई गई

जाँच में तीन बच्चियों की भूख से मरने की बात संदिग्ध पाई गई

दिल्ली स्थित मंडावली में तीन बच्चियों की मौत के प्रकरण में जाँच के बाद नया खुलासा हुआ है। दिल्ली सरकार द्वारा मजिस्ट्रेट से कराई गई जाँच पूरी हो गई है, जिसमें बताया गया है कि बच्चियों का पोषण स्तर खराब था लेकिन, तीनों बच्चियां भूखी नहीं थीं, उन्हें नियमित खाना मिलता था, साथ ही बड़ी बेटी के एकाउंट में रूपये भी जमा हैं।

मजिस्ट्रेट द्वारा की गई जाँच में बताया गया है कि पेट में संक्रमण होने से तीनों बच्चियों को उल्टी-दस्त हो रहे थे, उन्हें ओआरएस घोल व मेडिकल ट्रीटमेंट नहीं दिया गया, जिससे उन्हें डी-हाइड्रेशन हो गया था। बच्चियां 24 जुलाई की सुबह एक साथ मृत पाई गईं, इससे पहले पिता मंगल सिंह ने 23 जुलाई की रात में अज्ञात दवा गरम पानी में मिलाकर बच्चियों को पिलाई थी। बच्चियों के पिता मंगल सिंह का अभी तक पता नहीं है।

मजिस्ट्रेट की जाँच में यह भी खुलासा हुआ है कि सबसे बड़ी बच्ची के बैंक खाते में 1805 रुपये जमा हैं। मजिस्ट्रेट ने प्रकरण की जांच डीसीपी (ईस्ट) से कराने की संस्तुति भी की है। हालाँकि तीनों बच्चियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पेट खाली बताये गये थे लेकिन, मजिस्ट्रेट की जाँच में संदेह उत्पन्न हो गया है। बीमारी के चलते कई दिनों से बच्चियों ने कुछ नहीं खाया था, ऐसे में पीएम रिपोर्ट में पेट खाली आना स्वाभाविक ही है, फिर भी विस्तृत जांच होने पर और नये खुलासे हो सकते हैं।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.