दलित वर्ग के युवाओं को फर्जी मुठभेड़ में फंसाने का प्रकरण उछला

दलित वर्ग के युवाओं को फर्जी मुठभेड़ में फंसाने का प्रकरण उछला

बदायूं जिले के थाना उघैती की पुलिस द्वारा फर्जी मुठभेड़ में गिरफ्तार दर्शा कर दलित वर्ग के युवाओं को जेल भेजने का प्रकरण तूल पकड़ता जा रहा है। ग्रामीण पुलिस के विरुद्ध लामबंद होने लगे हैं। आक्रोशित ग्रामीणों ने अफसरों से शिकायत कर उच्च स्तरीय जाँच कराने की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि उघैती थाना क्षेत्र के गाँव खंडूवा निवासी रविशंकर उर्फ टीपू का गाँव सोहरा में मेडिकल स्टोर है, जिसे 12 दिसंबर को गाँव वापस लौटते समय शाम 7 बजे के करीब उघैती-खंडूवा मार्ग पर दो बदमाशों ने चाकू से घायल कर लूट लिया था। पुलिस को घटना की सूचना दी गई, लेकिन पुलिस ने बदमाशों को खोजने का प्रयास भी नहीं किया था, लेकिन कई दिनों बाद पुलिस ने दावा किया कि उसने मुठभेड़ के बाद बदमाश पकड़ लिए हैं। बताया गया कि एसआई रघुनाथ सिंह, एसआई हितेश कुमार, सिपाही उपदेश कुमार और सिपाही नरेंद्र कुमार रविवार रात 12 बजे गश्त पर जा रहे थे, तभी दारानगर स्थित हनुमान मन्दिर के पास दो लोग खड़े दिखाई दिए, पुलिस ने टॉर्च जलाई, तो बदमाश फायर कर भाग निकले, जिसके बाद पुलिस ने कड़ी मेहनत से दोनों को पकड़ लिया।

पुलिस ने बताया था कि वेदप्रकाश पुत्र नेकसी और पुष्पेन्द्र पुत्र दानवीर निवासीगण बसंतनगर थाना उघैती ने ही लूट की वारदात को अंजाम दिया था, जिन्हें जेल भेज दिया गया। पुलिस की स्क्रिप्ट पर ग्रामीण स्तब्ध रह गये। मोबाईल बरामद न होने के कारण गौतम संदेश ने फर्जी मुठभेड़ का खुलासा उसी दिन कर दिया था। अब ग्रामीण भी लामबंद होने लगे हैं।

अवनीश, लालाराम, रामनिवास, भारत सिंह, वेदराम, कृष्णा देवी, सोनवती, विजय कुमारी, भैरों सिंह, रामबहादुर, जयपाल, होशियार, बनवारी लाल, जगदीश और फूल सिंह सहित तमाम ग्रामीणों ने एसएसपी, डीएम, आईजी, एडीजी, डीजीपी और मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर कहा है कि दलित समुदाय के युवाओं को पुलिस ने फंसा दिया है, क्योंकि दोनों युवा मजदूरी कर जीवन यापन करते हैं, कोई आपराधिक इतिहास नहीं है, साथ ही जमीनी विवाद में दोनों के बीच मुकदमा चल रहा है, आपस में बोलते तक नहीं है, उक्त दोनों अपने घरों में सो रहे थे, तब पुलिस ने आकर गिरफ्तार किया था, जिसे बाद में फर्जी मुठभेड़ में बदल दिया। ग्रामीणों ने घटना की उच्च स्तरीय जाँच कराने की मांग की है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: लूट की वारदात से क्षेत्र में दहशत, असफल साबित हुए नये एसओ

पढ़ें: पुलिस ने लूट की वारदात का फर्जी मुठभेड़ से किया फर्जी खुलासा

Leave a Reply

Your email address will not be published.