दरोगा के जुआरी बेटे को छोड़ा, अन्य के विरुद्ध भी नहीं की कड़ी कार्रवाई

दरोगा के जुआरी बेटे को छोड़ा, अन्य के विरुद्ध भी नहीं की कड़ी कार्रवाई

बदायूं जिले में इस्लामनगर थाना पुलिस ने जुआ खेलते हुए 7 लोगों को दबोच लिया। पुलिस ने छुटभैयों की सिफारिश नहीं मानी पर, दूसरी और तीसरी बार पकड़े गये पेशेवर लोगों पर कड़ी कार्रवाई भी नहीं की। गंभीर धारा न लगाने के कारण अभियुक्तों को थाने से जमानत देने की बात चर्चा का विषय बनी हुई है।

कस्बा इस्लामनगर में समाजवादी पार्टी का नेता रजी अहमद जुआ कराता है। लगभग दो सप्ताह पहले पुलिस ने जुआ खेलते हुए कई लोगों को पकड़ा था और फिर जमानती अभियोग होने के कारण सबको थाने से जमानत दे दी थी। पुलिस गुरूवार को पुनः सूचना मिली कि रजी के घर पर जुआ हो रहा है। दबिश देकर पुलिस ने कई लोगों को दबोच लिया, जिनमें रजी के साथ एक ब्लॉक प्रमुख का परिजन है, एक सहकारी समिति के सचिव का बेटा है। एक सब-इंस्पेक्टर का बेटा है।

पुलिस ने प्रेस नोट में मुकदमा अपराध संख्या- 53/19 धारा 13 जुआ अधिनियम के अंतर्गत नाजिर पुत्र छोटे अली, सोनू पुत्र कृष्ण कुमार, नितिन पुत्र अरविंद कुमार, मुकेश पुत्र उमेश कुमार, जमीर अहमद पुत्र शब्बीर अहमद, नफीस पुत्र अनीस अहमद, रजी अहमद पुत्र रफीक अहमद निवासीगण कस्बा इस्लामनगर को गिरफ्तार दर्शाया गया है। प्रेस नोट में बरामद हुए रूपये और अन्य तमाम वस्तुओं के बारे में कुछ नहीं बताया गया है, साथ ही सब-इंस्पेक्टर के बेटे का भी नाम नहीं है। प्रेस नोट में अभियुक्तों को न्यायालय भेजने की बात कही गई है, जबकि सभी को थाने से जमानत दे दी गई, इस सबकी व्यापक चर्चा है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply