लाइसेंस का दुरूपयोग, रिवाल्वर लाते ही जितेन्द्र सक्सेना ने की फायरिंग

लाइसेंस का दुरूपयोग, रिवाल्वर लाते ही जितेन्द्र सक्सेना ने की फायरिंग

बदायूं जिले में शस्त्र लाइसेंस की जिन्हें वास्तव में बहुत जरूरत है, उनके लाइसेंस नहीं बन पा रहे हैं लेकिन, जिन्हें सिर्फ ग्लैमर और दहशत फैलाने को लाइसेंस चाहिए, उनके लाइसेंस पल भर में न सिर्फ बन गये बल्कि, ऐसे लोग खुलेआम लाइसेंस का दुरूपयोग करते नजर आ रहे हैं। हाशिये पर जा चुके एक भाजपा नेता द्वारा निरर्थक फायरिंग करने से मोहल्ले के लोग दहशत में बताये जा रहे हैं और उम्मीद कर रहे हैं कि तेजतर्रार डीएम लाइसेंस निरस्त कर भूल सुधार करेंगे।

एक वीडियो सामने आया है, जो सिविल लाइंस थाना क्षेत्र की कॉलोनी आवास विकास का बताया जा रहा है। वीडियो में एक युवक देर रात रिवाल्वर से फायरिंग करता नजर आ रहा है। हाव-भाव से लग रहा है कि युवक शराब के नशे में धुत है, क्योंकि पास में काले कपड़े पहने खड़ा व्यक्ति डर रहा है, वह उसे आकाश में गोली चलाने का भी इशारा करता दिख रहा है। युवक ने तड़ातड़ दो फायर कर दिए, युवक निरंतर फायर करना चाहता था लेकिन, तीसरे फायर पर संभवतः कारतूस फंस गया तभी, डरे-सहमे से दो लोग उसकी मदद करने को आगे आये।

फायरिंग की घटना के बाद मोहल्ले के लोग खिड़कियों और दरवाजों पर आ गये लेकिन, नशे में धुत युवक के हाथ में रिवाल्वर देख कर किसी ने कुछ भी कहना उचित नहीं समझा। डरे-सहमे लोगों ने खिड़की और दरवाजे बंद कर लिए। बताया जाता है कि युवक ने सड़क पर काफी देर तक तांडव किया, जिससे मोहल्ले वालों में दहशत नजर आ रही है। दहशत के चलते ही किसी ने पुलिस को सूचना नहीं दी।

वीडियो में जितेन्द्र सक्सेना नाम का युवक है, जो पहले भाजपा ब्रज क्षेत्र की कमेटी में उपाध्यक्ष था, जिसे ऊल-जलूल हरकतों के चलते किनारे कर दिया गया है। असलियत में वीएल वर्मा भाजपा के बड़े नेता हैं, वे जिले के लोगों को आगे बढ़ाने में मदद करते हैं, उन्होंने ही जितेन्द्र सक्सेना को ब्रज क्षेत्र का अध्यक्ष रहते समय उपाध्यक्ष बना लिया था पर, बाद में खुलासा हुआ कि छोटे व्यक्ति को बड़ा दायित्व दे दिया, जिससे पूरी पार्टी की ही फजीहत होने लगी तो, वे किनारा कर गये।

सूत्रों का कहना है कि लाइसेंस के लिए जितेन्द्र सक्सेना ने विधायक महेश चंद्र गुप्ता से आग्रह किया था। विधायक महेश चंद्र गुप्ता को लगा होगा कि ठोकर लगने के बाद जितेन्द्र सक्सेना में गंभीरता आ गई होगी, सो उन्होंने जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह से जितेन्द्र सक्सेना का लाइसेंस बनाने का आग्रह कर दिया। विधायक के आग्रह पर जिलाधिकारी ने भी लाइसेंस जारी कर दिया।

लाइसेंस जारी होने के बाद जितेन्द्र सक्सेना ने रिवाल्वर खरीदा और आवास-विकास कॉलोनी में जाकर देर रात निरर्थक ही फायरिंग कर दी, जिससे यह भी स्पष्ट हो गया कि एक बार फिर छोटे व्यक्ति के हाथ में बड़ी चीज पहुंच गई। दहशत के साये में रह रहे लोगों को उम्मीद है कि तेजतर्रार जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह जितेन्द्र सक्सेना का शस्त्र लाइसेंस शीघ्र ही निरस्त कर भूल सुधार करेंगे और उसकी जगह किसी जरूरतमंद को देंगे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.