सपा ने कुंवर सर्वराज को किया किनारे, कांग्रेस के खाते में दे दी सीट

सपा ने कुंवर सर्वराज को किया किनारे, कांग्रेस के खाते में दे दी सीट

आंवला लोकसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी कुंवर सर्वराज सिंह ही माने जा रहे थे, वे अपने बेटे सिद्धार्थ राज सिंह को आगे बढ़ाने में जुटे हैं, उन्होंने बेटे को विधान सभा चुनाव में भी मैदान में उतारा पर, भाजपा के धर्मपाल सिंह के मुकाबले 3500 मतों से मात खा गये। कहा जाता है कि कुंवर सर्वराज सिंह ने अपेक्षा के अनुरूप प्रचार नहीं किया, जिससे बेटा पहली ही जंग में मात गया।

कुंवर सर्वराज सिंह अब बेटे को लोकसभा चुनाव लड़ाना चाहते हैं लेकिन, सूत्रों का कहना है कि समाजवादी पार्टी ने उनके बेटे को टिकट न देने का संकेत दे दिया है, उन्हें समाजवादी पार्टी की जिला स्तरीय, प्रांतीय और राष्ट्रीय बैठकों में भी आमंत्रित नहीं किया जा रहा है, जिससे वे नया राजनैतिक आशियाना तलाशने में जुट गये हैं। सूत्रों का कहना है कि समाजवादी पार्टी मुलायम सिंह यादव के हाथ में थी तो, वे वरिष्ठ नेताओं के कहने पर एक-दो टिकट देते थे। कुंवर सर्वराज सिंह सपा के वरिष्ठ नेता प्रो. रामगोपाल यादव के करीबी माने जाते हैं। खेमेबाजी से बाहर निकलने में जुटे अखिलेश यादव अब सिर्फ अपने विश्वसनीय लोगों को ही टिकट देंगे, साथ ही गठबंधन की संभावनाओं के चलते सीटों की संख्या भी कम रह जायेगी, ऐसे में वे सिफारिश पर टिकट देने की स्थिति में हैं भी नहीं।

बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने भी तीन लोकसभा सीटें मांगी हैं, जिनमें एक आंवला लोकसभा क्षेत्र भी है, वे आंवला लोकसभा क्षेत्र अपने चहेते बदायूं जिले के कद्दावर नेता आबिद रजा के लिए मांग रहे थे लेकिन, सूत्रों का कहना है कि समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने उन्हें भी आंवला सीट न देने का संकेत दे दिया है। हालाँकि आबिद रजा के भी आंवला लोकसभा क्षेत्र में बैनर-पोस्टर दिखाई दे रहे हैं।

राजनीति में हर पल कुछ नया होने की संभावना बनी रहती है, इसलिए पहले से कुछ नहीं कहा जा सकता। हो सकता है कि एक बार फिर कुंवर सर्वराज सिंह ही भारी पड़ जायें, यह भी हो सकता है कि नेतृत्व आजम खान की बात को मान ले पर, हाल-फिलहाल कहा जा रहा है कि गठबंधन की अवस्था में समाजवादी पार्टी आंवला लोकसभा क्षेत्र कांग्रेस के खाते में दे चुकी है। माना जा रहा है कि कांग्रेस पुनः वरिष्ठ नेता सलीम इकबाल शेरवानी को ही मैदान में उतारेगी पर, अभी सलीम इकबाल शेरवानी की ओर से भी पत्ते बंद हैं, वे पिछले दिनों बदायूं लोकसभा क्षेत्र में भी सक्रियता दिखाते नजर आये थे।

पिछला चुनाव सलीम इकबाल शेरवानी आंवला लोकसभा क्षेत्र से ही लड़े थे पर, जमानत जब्त हो गई थी। भाजपा के विजयी प्रत्याशी धर्मेंद्र कश्यप को 4,09,533 मत, सपा प्रत्याशी कुंवर सर्वराज सिंह को 2,71 202 मत, बसपा प्रत्याशी सुनीता को 1,89,954 मत और कांग्रेस के सलीम इकबाल शेरवानी को 93,823 मत मिले थे, इसीलिए सलीम इकबाल शेरवानी असमंजस की स्थिति में हो सकते हैं।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply