कूड़े में आग लगाई, बड़ा हादसा टला, हवालात में कुत्ता बंद किया

कूड़े में आग लगाई, बड़ा हादसा टला, हवालात में कुत्ता बंद किया

बदायूं में सुधार होने की संभावना तलाशना भी समय बर्बाद करने जैसा लग रहा है। जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह तस्वीर बदलने को रात-दिन कड़ी मेहनत करते नजर आ रहे हैं, लेकिन कर्मचारियों के स्वभाव में परिवर्तन नहीं हो पा रहा है। जिलाधिकारी ने आज भी साफ-सफाई और सक्रियता पर जोर दिया, वहीं कूड़े के ढेर में आग लगा दी गई, साथ ही हवालात में कुत्ता बंद कर दिया गया, जो आजाद होने को सुबह होने का इंतजार कर रहा है।

बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई, जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष दीपमाला गोयल की उपस्थिति में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने सभासदों को निर्देश दिए कि सभी वार्डों में एक स्वच्छता समिति का गठन किया जाए। स्वच्छता समिति अपने अपने वार्ड में किसी को कूड़ा फेंकने नहीं देगी। सभी लोगों को बताएंगे कि कूड़ा कूड़ेदान में रखें। नगरपालिका का वाहन आते समय उसी में अपना कूड़ा डालें।

डीएम ने अधिशासी अधिकारी निशा मिश्रा को निर्देश दिए कि कूड़ा उठाने वाले वाहन बराबर चलते रहें और उन पर लाउडस्पीकर लगाया जाए, जो स्वच्छता के बारे में बराबर सन्देश देते रहें। उन्होंने कहा इससे लोगों को यह पता चल जाएगा कि कूड़ा उठाने वाला वाहन आ गया है। उन्होंने कहा कि जो स्वयं में सक्षम हैं, वह लोग कूड़ेदान खरीदें तथा जो सक्षम नहीं है, उन्हें चिन्हित कर नगर पालिका कूड़ादान उपलब्ध कराये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मोहल्ले में स्वच्छता टीम बराबर क्रियाशील रहेगी। किसी को गंदगी न फैलाने दें।

उन्होंने निर्देश दिया कि समस्त नगर पालिका व नगर पंचायतों में किसी भी दीवार पर कोई बैनर पोस्टर नहीं चिपकाएगा। चिपकाने वाले लोगों के विरुद्ध पालिका के अधिनियम के अनुसार कार्रवाई करें। उन्होंने कहा सभी लोग मिलकर जनपद को साफ-सुथरा एवं सुंदर बनायें। उन्होंने सभासदों को निर्देश दिए कि अपने-अपने वार्ड में कोई भी बैनर पोस्टर दीवारों पर नहीं चिपकाने दें। संकल्प लेकर शहर को साफ-सुथरा बनाना है, इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव एवं उप जिलाधिकारी सदर पारसनाथ सहित समस्त सभासद उपस्थित रहे।

दूसरी ओर लाबेला चौक पर जमा कूड़े में दोपहर आग लगा दी। आग लपटें और धूआं देख कर लोग डर गये। ट्रांसफार्मर पास में ही थे, जिससे बड़ा हादसा होने की आशंका से लोग काफी देर तक सहमे रहे, पर स्वतः ही बुझ गई, तो लोगों ने राहत की सांस ली, यह चौराह नगर पालिका परिषद की उपेक्षा का लगातार शिकार रहा है, यहाँ कोने में पर्याप्त जगह है, जिसमें पौधे और घास लगाई जा सकती है, इससे यहाँ कूड़ा पड़ना बंद हो जायेगा और लोग खुले में पेशाब करना भी बंद कर देंगे, पर नगर पालिका का इस ओर ध्यान ही नहीं है, जबकि इतने कार्य को कोई बड़ा बजट भी नहीं चाहिए।

इसके अलावा सदर तहसील की हवालात में आज चपरासी ने कुत्ता ही बंद कर दिया, जो बुरी तरह चीख रहा है। लोगों ने कुत्ते की आवाज सुन कर चपरासी को खोजने का प्रयास किया, लेकिन वह नदारद था। आजाद होने के लिए कुत्ते को अब सुबह होने का इंतजार करना ही पड़ेगा।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.