शाहजहांपुर में आसाराम के विरुद्ध प्रदर्शन और तेज

शाहजहांपुर में आसाराम के विरुद्ध प्रदर्शन और तेज
कथित धर्म गुरु आसाराम की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन करतीं महिलायें
कथित धर्म गुरु आसाराम की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन करतीं महिलायें

शाहजहांपुर के स्वाभिमानी लोग पूरी तरह जाग गए हैं। जाति-धर्म और वर्ग से ऊपर उठ कर कथित धर्म गुरु आसाराम के विरुद्ध एकजुट हो गए हैं और लगातार धरना-प्रदर्शन कर दुराचारी आसाराम की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

शाहजहांपुर में आज भी जगह-जगह प्रदर्शन हुआ, वहीं शहर के बड़े व्यापारियों ने प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को देकर नाबालिग लड़की से दुराचार करने वाले आसाराम को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग दोहराई, साथ ही देश भर में चल रहे आसाराम के सभी आश्रम बंद कराने की भी मांग की।

उल्लेखनीय है कि कथित धर्मगुरु आसाराम ने छिंदवाड़ा स्थित गुरुकुल में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा को अनुष्ठान के बहाने अपने आश्रम में बुलाकर उसका यौन शोषण किया, साथ ही बताने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। घटना पंद्रह अगस्त की रात की है। बताया जाता है कि घटना के बाद लड़की के हाव-भाव और अवस्था से डरकर आसाराम ने उसे और उसके परिजनों को अपने सेवकों के द्वारा स्टेशन भेजकर ट्रेन में बैठा दिया, लेकिन लड़की ने आसाराम के आश्रम से दूर जाते ही अपने परिजनों को पूरी घटना के बारे में बता दिया। इसके बाद परिजनों ने दिल्ली के कमला मार्केट थाने ले जाकर आसाराम के विरुद्ध मुकद्दमा पंजीकृत कराया। मुकद्दमा दर्ज होने के बाद से आसाराम के सेवक और अनुयायी रूपी गुंडे नाबालिग छात्रा के परिवार के पीछे पड़े हैं। तमाम तरह के प्रलोभन और धमकियाँ देकर मुकद्दमा वापस लेने का दबाव बना रहे हैं, लेकिन बेटी के साथ हुई दुर्दांत घटना से व्यथित परिवार किसी कीमत पर पीछे हटने को तैयार नहीं है।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

नित्यानंद और चिन्मयानंद की सूची में आसाराम भी शामिल

रेप की पुष्टि, आसाराम की गिरफ्तारी को लेकर संशय

आसाराम की गिरफ्तारी को लेकर जोरदार प्रदर्शन

आसाराम की सताई छात्रा का परिवार भूमिगत

गुरुकुल से आसाराम के पास जाती रहती हैं लड़कियां

आसाराम के पुतले पर जूते-चप्पलों की बरसात

कथित धर्म गुरु आसाराम के देश छोड़ने की आशंका

Leave a Reply

Your email address will not be published.