बदायूं के सांसद धर्मेंद्र के पीछे पड़ा जालसाज

बदायूं के सांसद धर्मेंद्र के पीछे पड़ा जालसाज

 

बदायूं लोकसभा क्षेत्र के युवा सांसद एवं सपा के स्टार नेता धर्मेद्र यादव के पहचान पत्र पर फिर रेलवे टिकट बनाने का खुलासा हुआ है, लेकिन रेल प्रशासन जालसाज को पकड़ नहीं पा रहा है।

सांसद के पहचान पत्र पर शुक्रवार तेरह जून को किसी जालसाज ने ट्रेन नंबर 12540 में लखनऊ से यशवंतपुर तक एसी द्वितीय श्रेणी में चार और एसी तृतीय श्रेणी में एक सीट का आरक्षण करा लिया। धर्मेद्र की आइसी नंबर 426 पर एसी द्वितीय श्रेणी की बोगी नंबर ए-एक की सीट संख्या 13 और 14 बुक कराई गई थी। रेलवे प्रशासन को सूचना मिली तो एंटी फ्रॉड टीम ने रायबरेली के साथ अन्य कई स्टेशनों पर छापेमारी की, लेकिन सीट पर कोई नहीं मिला।

उल्लेखनीय है कि सपा सांसद धर्मेद्र यादव के पहचान पत्र पर 15 जून को पूर्व सांसद डॉ. एके मिश्र के नाम ट्रेन 13006 पंजाब मेल में लखनऊ से हावड़ा तक एसी द्वितीय श्रेणी के तीन टिकट बनाए गए थे, 11 जून को भी उनके पहचान पत्र पर ही कुशीनगर एक्सप्रेस की एसी द्वितीय श्रेणी और 12225 कैफियत एक्सप्रेस में लखनऊ से दिल्ली तक प्रथम एसी में तीन सीटें डॉ. एके मिश्र व मंजूलता मिश्र के नाम पर बनवाई गई, इसी तरह 30 मई को सांसद धर्मेद्र के ही पहचान पत्र पर हावड़ा से लखनऊ तक ट्रेन 13009 दून एक्सप्रेस की एसी द्वितीय श्रेणी में बोगी ए-एक में सीट 18, 25 व 26 का आरक्षण डॉ. एके मिश्र के नाम पर हुआ। जालसाज बार-बार सांसद के पहचान पत्र का दुरुपयोग कर रहा है, पर रेलवे शातिर जालसाज को नहीं पकड़ प रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.