दलित किशोरी के धर्म परिवर्तन की घटना को दबा रही पुलिस

दलित किशोरी के धर्म परिवर्तन की घटना को दबा रही पुलिस
पीड़ित भाई
पीड़ित भाई

नाबालिग लड़की के धर्म परिवर्तन कराने के मामले को पुलिस दबाने में जुट गई है। हालाँकि पुलिस ने एससी/एसटी के साथ किशोरी को बहला-फुसला कर भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कर लिया है, साथ ही पुलिस किशोरी को शीघ्र बरामद कराने का भी दावा कर रही है, वहीं आज कई संगठनों के पदाधिकारियों ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की एसएसपी से मांग की।

दुर्दांत वारदात बदायूं जिले में स्थित अलापुर थाना क्षेत्र के कस्बा ककराला की है, जहाँ के एक युवक ने एक मदरसा संचालक पर आरोप लगाया कि उसकी बहन ट्यूशन पढ़ने जाती थी, लेकिन पढ़ाई की जगह मदरसा संचालक ने उसकी बहन को अपने धर्म का पाठ पढ़ा दिया। भाई ने बताया कि कल उसकी बहन घर में नमाज पढ़ रही थी, तो परिजन दंग रह गये, साथ ही परिजनों ने मना किया, इस पर वह नाराज हो गई।

इसके बाद मदरसा संचालक ने कल ही उसका धर्म परिवर्तन करा दिया और एक युवक से उसका निकाह भी करा दिया। आरोप है कि पुलिस मदद नहीं कर रही है। हालांकि पुलिस ने एससी/एसटी एक्ट के साथ किशोरी को बहला-फुसला कर भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कर लिया है, साथ ही पुलिस पॉस्को एक्ट के तहत कार्रवाई करने की भी बात कह रही है, लेकिन पुलिस ने नाबालिग किशोरी का धर्म परिवर्तन कराने का मामला दर्ज नहीं किया है, जिससे परिजन आक्रोशित हैं, वहीं आज कई संगठनों के पदाधिकारियों ने एसएसपी से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग की है। बता दें कि किशोरी कल ही गायब कर दी गई थी और पुलिस अभी तक बरामद भी नहीं कर पाई है।

पीड़ित भाई का वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.