प्राथमिक विद्यालय के परिसर में ही लगा है गंदगी का अंबार, बच्चे परेशान

प्राथमिक विद्यालय के परिसर में ही लगा है गंदगी का अंबार, बच्चे परेशान
गाँव नैनोल बागवाला स्थित प्राथमिक विद्यालय के परिसर में और सामने लगा गंदगी का अंबार।

बदायूं जिले का प्रशासनिक अमला स्वच्छता और शौचालय को लेकर रोज नये-नये दावे कर रहा है। अभियान को पूरी तरह सफल बता रहा है, जबकि सच्चाई यह है कि शिकायत के बावजूद गंदगी और शौचालय की ओर अफसर ध्यान नहीं दे रहे, जिससे नन्हे-मुन्ने बच्चों का बुरा हाल है। भीषण गर्मी के चलते गंदगी से प्राथमिक विद्यालय के बच्चे कभी भी बीमार पड़ सकते हैं।

विकास क्षेत्र दहगवां के गाँव नैनोल बागवाला में प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में एवं उसके ठीक सामने गंदगी का अंबार लगा है। मैला ढोने की प्रथा कलंक है, इसके बावजूद विद्यालय के सामने शौचालय बना है, जिसकी दुर्गंध से बच्चों और शिक्षकों का बुरा हाल है। वर्षा और गर्मी के चलते घूर की गंदगी से उठने वाली दुर्गंध पूरे मोहल्ले के लोगों का जीना दूभर किये हुए है, इससे सामान्य वायरल निरंतर फैल रहा है। मच्छरों के चलते दिन में भी लोग सहजता से बैठ तक नहीं सकते। विद्यालय के बच्चों, शिक्षकों और नागरिकों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए प्रधान शानू चौधरी ने बीडीओ और सहसवान के एसडीएम से लिखित में शिकायत भी की, लेकिन प्रधान की शिकायत पर किसी ने ध्यान तक नहीं दिया।

सरकार स्वच्छता और शौचालय को लेकर बेहद गंभीर है। सरकार करोड़ों रूपये उपलब्ध करा रही है और समूचे प्रशासन को जुटा रखा है, ऐसे में प्रशासनिक अफसरों द्वारा विद्यालय परिसर में व्याप्त गंदगी को गंभीरता से न लेना समूचे अभियान पर ही प्रश्न चिन्ह लगाता है। प्रधान शानू चौधरी ने विद्यालय परिसर से गंदगी हटवाने की डीएम से पुनः मांग की है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.