बाबू अक्षत ने की गौतम संदेश की शिकायत, बीपी गौतम पर गंभीर आरोप

बाबू अक्षत ने की गौतम संदेश की शिकायत, बीपी गौतम पर गंभीर आरोप

बदायूं के नेहरू मैमोरियल शिवनारायण दास महाविद्यालय के कर्मचारी अक्षत अशेष ने खबरों पर गंभीरता से विचार कर आचरण सुधारने की जगह गौतम संदेश की शिकायत कर दी। कथित पीड़ित अक्षत अशेष ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को दिए प्रार्थना में बीपी गौतम पर भी गंभीर आरोप लगाये हैं, जिनकी पुष्टि पुलिस की जाँच में नहीं हुई।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के नाम दिए प्रार्थना पत्र में कथित पीड़ित अक्षत अशेष ने लिखा है कि वह सम्मानित नागरिक है, राष्ट्रीय स्तर के ख्याति प्राप्त कवि उर्मिलेश शंखधार का पुत्र है। लिखा है कि उसके पिता निधन से पहले दास कॉलेज में हिंदी विभाग के अध्यक्ष थे, वह खुद भी ख्यातिलब्ध कवि है और अनेक सामाजिक संस्थाओं में महत्वपूर्ण पदों के साथ बदायूं क्लब के सचिव के रूप में सामाजिक कार्यों में अग्रणी भूमिका निभाता है। शिकायती पत्र में भी अपनी ब्रांडिंग करने के बाद आगे लिखा है कि पिता की मृत्यु के बाद वर्ष- 2006 में दास कॉलेज में वह मृतक आश्रित के रूप में नियुक्त हो गया। वर्तमान में वह लेखाधिकारी का दायित्व ईमानदारी और निष्ठा से संभाल रहा है।

पत्र में लिखा है कि कथित पीड़ित अक्षत और उसके परिवार को जिले में पूर्ण सम्मान मिलता है, उसकी ख्याति को कुछ अवांछनीय तत्व धूमिल करना चाहते हैं। बीपी गौतम शातिर किस्म का स्वयं-भू पत्रकार है, जो गौतम संदेश के माध्यम से अशोभनीय, अभद्र, असंसदीय और निंदनीय टिप्पणी कर रहा है, इस सबसे कथित पीड़ित अक्षत अशेष और उसके परिवार की प्रतिष्ठा खराब हुई है एवं उसे मानसिक आघात लगा है। कथित पीड़ित ने स्वयं-भू पत्रकार बीपी गौतम पर ब्लैकमेल करने का भी आरोप लगाया है एवं मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। प्रकरण की जाँच सब-इन्स्पेक्टर उदयवीर सिंह द्वारा की गई, जिसमें कथित पीड़ित के आरोप सिद्ध नहीं हुए।

उक्त प्रकरण पर बीपी गौतम का कहना है कि इस तरह की शिकायतों और आरोपों से न आत्मविश्वास कम होगा और न ही तेवरों में कोई कमी आयेगी। बाजारवाद के विरुद्ध और आम जनता के हित में आवाज बुलंद करने का दायित्व गौतम संदेश पूरी निष्ठा के साथ निभाता रहेगा। बीपी गौतम ने कहा कि गौतम संदेश सिर्फ खबरों का माध्यम भर नहीं है, यह शोषितों, गरीबों, दलितों, पिछड़ों और महिलाओं के हित में आंदोलन खड़ा करने का भी कार्य करता है, इसके बीच में किसी को भी नहीं आने दिया जायेगा। बीपी गौतम ने यह भी कहा कहा कि अक्षत अशेष से कोई व्यक्तिगत रंजिश नहीं है, लेकिन बदायूं क्लब में उनके द्वारा की जा रही मनमानी और भ्रष्टाचार को लेकर जिले भर के लोग दुखी हैं। आम जनता की मंशा के अनुरूप सकारात्मक भाव से गौतम संदेश का खबरें लिखने का प्रथम कार्य है, फिर भी अक्षत अशेष को आपत्ति है, तो विधिवत गौतम संदेश के सामने अपना पक्ष रखना था, जिसे गौतम संदेश प्रमुखता से यथा-स्थान देता।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: घोटालेबाज अक्षत की शिकायत, क्लब पर प्रशासक तैनात करने की मांग

पढ़ें: बदायूं क्लब पर एकाधिकारी, भ्रष्टाचार और मनमानी को लेकर दिया ज्ञापन

Leave a Reply